Soil pollution in india

भारत में मृदा प्रदूषण ( Soil Pollution in India ) हमारे देश की लगभग 80 % जनसंख्या गाँवों में निवास करती है जहाँ पर मनुष्यों के मल निक्षेपण की कोई भी व्यवस्था नहीं है जो रोगों एवं बीमारियों का प्रमुख स्रोत है । यही कारण है कि देश में अधिकांश लोग नाना प्रकार की बीमारियों से ग्रसित हैं । हमारे देश की शहरी जनसंख्या लगभग 12 करोड़ है , जिसके द्वारा उत्पन्न ठोस अपशिष्ट की मात्रा 2 करोड़ टन प्रतिवर्ष है । इस आंकड़े के अनुसार सम्पूर्ण देश में उत्पन्न कुल ठोस अपशिष्ट की मात्रा बहुत अधिक है । एक सर्वेक्षण के अनुसार केवल बुम्बई शहर में ही प्रतिदिन 4 हजार टन कूड़ा - कचरा निकलता है जिसको निपटाने के लिए 750 गाड़ियाँ लगी हुई है । इस प्रकार कूड़े - कचरे को निपटाने के लिए प्रतिदिन कितना व्यय करना पड़ता है इसका अनुमान सहज रूप में लगाया जा सकता है । 

इसे भी पढ़े : ईमानदारी का फल



Education : Digital Marketing


Read Article

Education : Important of fitkari


Read Article

Education : Study in Agriculture knowledge and more informataion of agriculture side


Read Article

Education : Soundpollution


Read Article

Education : Soil pollution in india


Read Article

Goal24.in is a product of RSG Trade & Services (OPC) Pvt. Ltd.

Success motivational stories, motivational business success stories ,real life inspirational stories,true story,moral stories

© Goal24.in, 2020 | All Rights Reserved | Privacy Policy | About Us | Contact Us