पीएम मोदी बोले- कोई मंत्री नहीं जाएगा विदेश, राष्ट्रपति भवन आमजन के लिए बंद

13 मार्च से राष्ट्रपति भवन बंद

राष्ट्रपति भवन संग्रहालय परिसर (आरबीएमसी) और चेंज ऑफ गार्ड समारोह अगले नोटिस तक आम जनता के लिए बंद रहेगा। इसके साथ ही राष्ट्रपति भवन भी 13 मार्च से अगले नोटिस तक बंद रहेगा।

दो से तीन में और अधिक संख्या में आएंगे भारतीय: सेना
सेना के प्रवक्ता कर्नल अमन आनंद ने गुरुवार को कहा कि अगले 2-3 दिनों में हम और ज्यादा भारतीय नागरिकों को वापस आने की उम्मीद कर रहे हैं। हमने जोधपुर, झांसी, गोरखपुर, कोलकाता, जैसलमेर, चेन्नई और देओलाली सहित कई स्थानों पर नई सुविधाएं तैयार की हैं जहां हम इन लोगों को रखकर कोरोनावायरस से संक्रमित होने या नहीं होने की जांच कर सकते हैं।

पड़ोसी देश मांग रहे मदद
विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा कि कोरोनावायरस से निपटने के लिए कुछ पड़ोसी देशों भूटान, मालदीव, ईरान और इटली से सुरक्षात्मक सहायता करने के अनुरोध प्राप्त हुए हैं, जो कि प्रक्रियाधीन हैं। फरवरी में हमने इसी तरह की चीन को चिकित्सकीय मदद के लिए एक खेप भेजी थी।

आईपीएल का फैसला उसके आयोजकों पर निर्भर: विदेश मंत्रालय
विदेश मंत्रालय ने गुरुवार को कोरोनावायरस के कारण आईपीएल मैचों के रद्द होने की खबरों को लेकर मीडिया से कहा कि यह आयोजकों को तय करना है कि वह टूर्नामेंट कराने को लेकर आगे बढ़ना चाहते हैं या नहीं। हमारी सलाह है कि ताजा हालात को देखते हुए इस समय ऐसा ना करें। हालांकि वह आगे बढ़ना चाहते हैं तो यह उनका निर्णय है।

मंत्रालय ने यह भी कहा कि कुछ सामान्य अवलोकन के आधार पर भारत में खेल के बड़े आयोजन फिलहाल रोकने को लेकर यह टिप्पणी की गई है। हमारा मानना है कि यह आयोजकों की ओर से लिया जाने वाला निर्णय है। भारत में आईपीएल या अन्य दूसरे खेल आयोजन की मेजबानी को लेकर विदेश मंत्रालय की ओर से कोई विशेष सिफारिश नहीं की गई है।

दिल्ली में कोरोनावायरस महामारी घोषित
दिल्ली सरकार ने कोरोनावायरस को महामारी घोषित कर दिया है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली में 31 मार्च तक सभी सिनेमाघर, मल्टीप्लेक्स बंद करने का फैसला किया है। मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा कि जिन स्कूल और कॉलेजों में परीक्षाएं नहीं हैं, उन्हें भी बंद रखने का फैसला लिया गया है। 

घबराने की जरूरत नहीं : पीएम मोदी
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देशवासियों से कहा है कि कोरोनावायरस को लेकर घबराने की जरूरत नहीं है। उन्होंने ट्वीट कर कहा, 'घबराहट को कहें ना, सावधानी को कहें हां। केंद्र सरकार का कोई मंत्री आने वाले दिनों में विदेश की यात्रा नहीं करेगा। मैं अपने देशवासियों से भी आग्रह करता हूं कि आप भी गैर जरूरी यात्रा न करें। हमें इसे फैलने से रोक सकते हैं और भीड़ वाली जगह जाने से बचकर सुरक्षित रह सकते हैं।' प्रधानमंत्री ने कहा कि कोरोनावायरस को लेकर सरकार पूरी तरह से सतर्क है। सभी उचित कदम उठाए जा रहे हैं। 

प्रवासी नागरिकों को वीजा-मुक्त यात्रा की सुविधा 15 अप्रैल तक
कोरोनवायरस से निपटने को लेकर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने गुरुवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर देश में मौजूदा स्थिति की जानकारी दी। मंत्रालय की ओर से संयुक्त सचिव लव गुप्ता ने कहा कि भारत के प्रवासी नागरिकों (ओसीआई) कार्डधारकों को दी जाने वाली वीजा-मुक्त यात्रा की सुविधा 15 अप्रैल 2020 तक के लिए दी गई है। यह 13 मार्च 2020 को 12 बजे से लागू होगी।

उन्होंने कहा कि देश में अब तक दर्ज किए गए 73 मामलों में से 56 भारतीय हैं और 17 विदेशी नागरिक हैं। अब तक भारत सरकार ने मालदीव, म्यांमार, बांग्लादेश, चीन, अमेरिका, मेडागास्कर, श्रीलंका, नेपाल, दक्षिण अफ्रीका और पेरू जैसे 48 अन्य देशों से 900 भारतीय नागरिकों को निकाला है। उन्होंने बताया कि देश भर में कोरोनावायरस से संक्रमित लोगों के रक्त आदि के नमूनों की जांच के लिए कुल 56 नमूना संग्रह केंद्र और 52 परीक्षण सुविधाएं मौजूद हैं।

संयुक्त सचिव अग्रवाल ने यह भी बताया कि हमारे पास पहले से ही लगभग 1 लाख परीक्षण किट उपलब्ध हैं, अतिरिक्त परीक्षण किट पहले ही ऑर्डर किए जा चुके हैं। उन्होंने कहा कि कोरोनावायरस से खुद का बचाव के लिए हर वक्त मास्क पहनना जरूरी नहीं है। यदि कोई व्यक्ति अपने आसपास के लोगों से पर्याप्त दूरी बनाए रखता है तो उसे मास्क की जरूरत नहीं है। इसलिए घबराने की जरूरत नहीं है।

उन्होंने कहा कि भारत में इस वायरस ने फिलहाल आम नागरिकों के बीच बड़े पैमाने पर अपने पैर नहीं पसारे हैं। हमारे यहां केवल कुछ मामले हैं जो बाहर से आए हैं और इन मामलों में भी संक्रमित मरीजों ने मुख्य रूप से परिवार के करीबी सदस्यों को ही प्रभावित किया है।

संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने कहा कि कोरोनावायरस से जुड़े सभी तथ्यों का अध्ययन किया जा रहा है। हालांकि अभी तक कोई पुष्टिकरण अध्ययन नहीं है। आम तौर पर यह उम्मीद की जाती है कि इस वायरस को उच्च तापमान में जीवित रहने में कठिनाई हो सकती है, लेकिन इस बात की निश्चित तौर पर पुष्टि नहीं हुई है।

इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च का दावा: वायरस को अलग करने में मिली कामयाबी
इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च ने गुरुवार को दावा किया कि हमने कोरोनावायरस को अलग करने में कामयाबी हासिल की है, हमारे पास ऐसे 11 आइसोलेट्स हैं। परंतु इसका टीका बनाने में न्यूनतम 1.5 से 2 वर्ष लगेंगे।

इसे भी पढ़े : General knowledge



Health : Benefits of Giloy: TThe Root of Immortality Ayurvedic


Read Article

Health : पीएम मोदी बोले- कोई मंत्री नहीं जाएगा विदेश, राष्ट्रपति भवन आमजन के लिए बंद


Read Article

Health : health tips


Read Article

Health : Love is life ❣️❣️❤️💞


Read Article

Health : इस चीज से ज्यादा देर नहीं लड़ पाता कोरोना, हर वक्त रखें अपने साथ !


Read Article

Goal24.in is a product of RSG Trade & Services (OPC) Pvt. Ltd.

Success motivational stories, motivational business success stories ,real life inspirational stories,true story,moral stories

© Goal24.in, 2020 | All Rights Reserved | Privacy Policy | About Us | Contact Us